भारत ने इंग्लैंड को एक पारी और 36 रनों से हराया, सीरीज पर कब्जा

मुंबई । भारत ने इंग्लैंड को पांच मैचों की सीरीज के चौथे टेस्ट में एक पारी और 36 रनों से हराकर सीरीज पर कब्जा कर लिया। पांचवें दिन की शुरुआत इंग्लैंड ने छह विकेट पर 182 रनों से की थी और 195 रनों तक पूरी पारी सिमट गई। अश्विन ने पांचवें दिन चारों बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्सा दिखाया।

दिन की शुरुआत जॉनी बेयरेस्टो के विकेट से हुई। वो 51 रन पर आउट हुए। अश्विन की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट दिए जाने के बाद बेयरेस्टो ने डीआरएस का इस्तेमाल किया लेकिन थर्ड अंपायर ने रिप्ले देखने के बाद फील्ड अंपायर के फैसले को सही ठहराया। क्रीज पर जोस बटलर का साथ देने क्रिस वोक्स आए। अश्विन ने अगले ही ओवर में वोक्स क्लीन बोल्ड कर दिया। इसके बाद आदिल राशिद और जेम्स एंडरसन भी दो-दो रन बनाकर आउट हो गए। आर अश्विन ने छह, रविंद्र जडेजा ने दो जबकि भुवनेश्वर कुमार और जयंत यादव ने एक-एक विकेट लिया।

भारत ने इंग्लैंड के 400 रन के जवाब में अपनी पहली पारी में 631 रन बनाए थे,इस तरह पहली पारी में 231 रनों की बढ़त मिली थी। इंग्लैंड ने दूसरी पारी में चौथे दिन का खेल खत्म होने तक 182 रनों तक 6 विकेट गंवा दिए थे।

चौथे टेस्ट का चौथा दिन पूरी तरह कप्तान विराट कोहली के नाम रहा जिन्होंने 340 गेंदों पर 25 चौकों और एक छक्के की मदद से 235 रन की अपनी बेस्ट पारी खेली। विराट ने इस तरह किसी भारतीय कप्तान का बेस्ट स्कोर का रिकॉर्ड भी बना दिया। लोअर ऑर्डर के बल्लेबाज जयंत ने अपने तीसरे ही टेस्ट में पहली सेंचुरी जमाई। जयंत ने 204 गेंदों पर 104 रन में 15 चौके लगाए। इन दोनों ने आठवें विकेट के लिए रिकॉर्ड 241 रनों की साझेदारी की।

भारी दबाव में खेल रहे इंग्लैंड ने खराब शुरुआत की और 49 रन तक अपने तीन विकेट गंवा दिए। हालांकि जो रूट (77) और जॉनी बेयरेस्टो (नॉटआउट 50) ने स्थिति को संभालने की कोशिश की लेकिन जयंत ने रूट को एलबीडब्ल्यू कर इंग्लैंड को करारा झटका दे दिया। इंग्लैंड के पहले तीन बल्लेबाज एलबीडब्ल्यू आउट हुए। डेब्यू टेस्ट खेल रहे और पहली पारी में सेंचुरी बनाने वाले ओपनर कीटन जेनिंग्स खाता खोले बिना पारी की दूसरी ही गेंद पर एलबीडब्ल्यू हो गए। जेनिंग्स का विकेट भुवी के खाते में गया। कप्तान एलेस्टेयर कुक 18 रन बनाने के बाद लेफ्टआर्म स्पिनर जयंत यादव की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हो गए। मोइन अली खाता नहीं खोल पाए और उन्हें जडेजा ने लेग गली में मुरली विजय के हाथों कैच करा दिया। रूट चौथे विकेट के रूप में 141 के स्कोर पर आउट हुए।

रूट ने 112 गेंदों पर 77 रन में 11 चौके लगाए। बेयरेस्टो ने बेन स्टोक्स (18) के साथ पांचवें विकेट के लिए 39 रन की साझेदारी की लेकिन पहली पारी में छह विकेट लेने वाले अश्विन ने दिन का खेल खत्म होने से कुछ पहले स्टोक्स को आउट किया। स्टोक्स का कैच दूसरी स्लिप में विजय ने लपका। अश्विन ने दिन के आखिरी ओवर की तीसरी गेंद पर जेक बॉल (02) को विकेटकीपर पार्थिव पटेल के हाथों कैच करा दिया और इसी के साथ ही चौथे दिन का खेल खत्म हो गया। इंग्लैंड ने दिन के अंतिम ओवरों में दो विकेट गंवाए।

जडेजा ने 18 ओवर में 58 रन देकर दो विकेट लिए और इसके साथ ही अपने 100 विकेट भी पूरे कर लिए। जडेजा ने पहली पारी में चार विकेट लिए थे। अश्विन ने 16.3 ओवर में 49 रन देकर दो विकेट लिए और इसके साथ ही उन्होंने पूर्व लेग स्पिनर चंद्रशेखर को पीछे छोड़ दिया और देश के छठे सबसे सफल गेंदबाज बन गए। चंद्रशेखर के 242 विकेट थे जबकि अश्विन के 243 विकेट हो चुके हैं। भुवी ने 11 रन पर एक विकेट और जयंत यादव ने 39 रन पर एक विकेट लिया।

हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फ्री मोबाईल ऐप डाऊनलोड करे तथा हमे  फेसबुकटविटर और गूगल पर फॉलो करें