भोपाल : 80 सुरक्षाकर्मियों को जेल की ड्यूटी से हटाकर लगाया गया था दूसरी जगह

भोपाल । भोपाल की सेंट्रल जेल से जिस समय सिमी के आठ सदस्य भागने में कामयाब हो गए थे उस समय वहां से लगभग 80 सुरक्षाकर्मी गायब थे। जेल की ड्यूटी ने नाम पर उन गार्ड्स को कहीं और पोस्ट किया गया था। जिसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का घर और ऑफिसर, जेल मंत्री कुसुम मेहेंडे, पूर्व जेल मंत्रियों और जेल अधिकारियों के घर और जेल का हेडक्वॉटर शामिल था।

ऐसे में राज्य की सबसे बड़ी जेलों में से एक में 3,300 कैदियों पर निगरानी रखने के लिए कुल 139 गार्ड्स थे। इस मुद्दे पर जब जेल मंत्री कुसुम से सवाल पूछा गया तो उन्होंनें मीडिया पर बात को बढ़ाने-चढ़ाने का आरोप लगाया।

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, उन्होंने कहा, ‘मेरे पास एक ड्राइवर है और ऑफिस में दो लोग। मुझे बाकी कुछ नहीं पता। फिर भी मैं जांच करूंगी।’ मध्य प्रदेश की सेंट्रल जेल में कुल 250 गार्ड्स की जगह है। इसमें से 139 ड्यूडी पर हैं। 70 ट्रेनिंग पर हैं और बाकी 31 स्थान फिलहाल खाली हैं।

गौरतलब है कि 31 अक्टूबर को आठ अंडरट्रायल कैदी भोपाल की सेंट्रल जेल से एक सुरक्षागार्ड की हत्या करके भाग गए थे। आरोप था कि उन लोगों ने जीभ साफ करने वाले से गेट की चाबी बनाई थी।

पुलिस ने कहा था कि स्टील की प्लेट को पैना करके उन लोगों ने गार्ड की हत्या की थी और फिर बेडशीट की मदद से 30 फिट की दीवार कूदकर भाग गए थे। उन सभी लोगों पर मर्डर, देशद्रोह और दंगे करवाने के आरोप थे। विपक्षी पार्टियों द्वारा एनकाउंटर पर सवाल उठाए गए थे। विपक्ष ने इस मामले की निष्पक्ष जांच करवाने की भी मांग की थी। यह जांच घटनास्थल की तीन वीडियो सामने आने के बाद उनको बेस बनाकर हो सकती है।

हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फ्री मोबाईल ऐप डाऊनलोड करे तथा हमे  फेसबुकटविटर और गूगल पर फॉलो करें