राज्यसभा सदस्यता का मामला, सुभाष चंद्रा और विधानसभा सचिव को नोटिस

राज्यसभा सदस्यता का मामला, सुभाष चंद्रा और विधानसभा सचिव को नोटिस

Posted by

चंडीगढ़ । हरियाणा से राज्यसभा सीट के लिए हुए चुनाव में पराजित कांग्रेस प्रत्याशी एडवोकेट आरके आनंद की याचिका पर पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने विजयी रहे भाजपा समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार सुभाष चंद्रा समेत विरेंद्र सिंह और हरियाणा विधानसभा सचिव व चुनाव अधिकारी आरके नांदल को 6 अक्तूबर के लिए नोटिस जारी कर तलब किया है।

आरके आनंद ने अपनी याचिका में राज्यसभा सीट के लिए हुए चुनाव को चुनौती दी है। जस्टिस पीबी बजंतरी की बेंच के समक्ष सुनवाई के लिए पहुंची आरके आनंद की याचिका में कहा गया है कि राज्यसभा में हरियाणा की दो सीटों के लिए चुनाव बीते 11 जून को कराए गए थे।

एक सीट पर वे और सुभाष चंद्रा प्रतिद्वंद्वी थे, लेकिन चुनाव प्रक्रिया में मतदान के दौरान उनके प्रतिद्वंद्वी को जिताने के लिए साजिश रची गई। इस साजिश के तहत जिस पेन से वोट दिया जाना था, विधानसभा में वह पेन ही बदल दिया गया।

याचिका में आनंद ने आगे कहा है कि इस साजिश के बारे में उन्होंने पुलिस को शिकायत दी थी और साथ ही चुनाव आयोग के पास भी शिकायत दर्ज करवाई थी। याचिकाकर्ता का कहना है कि चुनाव में साजिश के चलते ही वह पराजित हुए। उन्होंने याचिका में मांग की है कि राज्यसभा सीट के लिए हुए इस चुनाव को रद किया जाए या उन्हें विजयी घोषित किया जाए।

हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फ्री मोबाईल ऐप डाऊनलोड करे तथा हमे  फेसबुकटविटर और गूगल पर फॉलो करें